About

(We welcome articles on any topic from everyone. Please contact us for submission of articles)

भारतीय सभ्यता में कथाओं का महत्त्वपूर्ण स्थान रहा है | चाहे जातक कथाएँ हों, पंचतंत्र का रोचक पशु समाज हो, अलिफ़ लैला के किस्से हों, हम सभी का बचपन ऐसे अनेक किस्सों के साथ गुज़रा है | सरल कहानियों में प्रतीकों के माध्यम से अक्सर गूढ़ दर्शन छिपा होता है |

सागर मंथन एक प्रसिद्ध पौराणिक कथा है | जितना मेरा सूक्ष्म मस्तिष्क समझ सका , सागर प्रतीक है हमारे जनमानस की अथाह गहराइयों का, जो अपने भीतर संभावनाओं का एक अगम संसार समेटे बैठे है | मंथन प्रतीक है मानव के अदम्य साहस और अथक परिश्रम का , जिससे वह निर्भीक होकर इन गहराइयों से रत्न निकालता है | मंथन पर हम इसी प्रकार एक निर्भीक प्रयास कर रहे हैं, जनमानस में छिपे रत्नों को निर्भीकता और परिश्रम से बहार लाने का | जिस प्रकार सागर मंथन से हलाहल से लेकर अमृत तक अनेकों प्रकार के रत्न निकले, उसी प्रकार यहाँ “मंथन” पर सभी प्रकार के लेखों का स्वागत है |

sagar_manthan

 

Save

Advertisements

Powered by WordPress.com.

Up ↑

%d bloggers like this: